कौन कहता है सरकारी स्कूलों में पढ़ाई नहीं होती? मेरा स्कूल देखिये

प्रश्न- मध्य प्रदेश बोर्ड की परीक्षा में जिला टॉपर बनकर कैसा लग रहा है?
– बहुत अच्छा लग रहा है, इस बात की मुझे ख़ुशी है लेकिन मेरा लक्ष्य बहुत बड़ा है उसे प्राप्त करने के लिए मुझे और महनत करनी है ।

प्रश्न- क्या इतने अच्छे परिणाम की उम्मीद थी ?
– परीक्षा देकर आने के बाद इतना तो विश्वास था कि मेरिट में स्थान आएगा लेकिन प्रथम स्थान आयेगा ये नहीं सोचा था ।

प्रश्न- पढाई – लिखाई के दौरान आपने ऐसा क्या किया जो इतने अच्छे अंक प्राप्त हुए ?
-मेरे अब तक के अनुभव के अनुसार ऐसा जरुरी नहीं है कि हम दिन में 15 – 16 घंटे पढ़े तभी अच्छे परिणाम आये , मेरे अनुसार आप भले ही थोडा पढ़े लेकिन मन से और समझकर पढ़े । मैंने भी 10 वी बोर्ड में यही किया है।

प्रश्न- आप अपने परीक्षा परिणाम में परिवार और शिक्षकों के योगदान के बारे में बताये ।
– मेरे परीक्षा परिणाम में परिवार और शिक्षको का बहुत योगदान है। परिवार ने मुझे कोई भी मानसिक तनाव नहीं होने दिया। किसी भी चीज की कमी महसूस नही होने दी। शिक्षकों ने मेरा मार्गदर्शन बहुत अच्छे से किया तथा हर समय हमारी हर समस्या हल की।

विद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में सहभागिता

प्रश्न- आप अपने स्कूल के बारे में बताए कि वहां क्या क्या रोचक गतिविधियां होती है ?
– हमारे स्कूल में विद्यार्थियों के शारीरिक विकास के लिए बहुत सारी गतिविधियां होती है। गेम्स , शूटिंग , लड़कियों के लिए सेल्फ डिफेंस आदि गतिविधियां होती रहती है। विद्यार्थियों के अंदर की प्रतिभाओं को निखारने के लिए हर शनिवार बाल दिवस का आयोजन होता है। विद्यालय में वोकेशनल ट्रेड्स के द्वारा प्रदर्शनी का आयोजन भी होता है ।

प्रश्न- आगे क्या करना चाहते हैं ?
– मैं आगे जाकर आई० ए० एस० बनकर अपनी माँ और पापा का सपना पूरा करके देश की सेवा करना चाहती हूँ ।

प्रश्न- आप अपना आदर्श किसे मानते हो? क्यों वे आपके आदर्श हैं ?
– मैं अपना आदर्श अपने माँ – पापा को मानती हूँ । उन्होंने जीवन की हर परिस्थिति का सामना डटकर किया है और कभी हार नहीं मानी। उनकी इस बात से मैं बहुत प्रभावित हुई।

प्रश्न- पढ़ने – लिखने के अलावा आप किन – किन चीजों में रूचि रखते है ?
– पढ़ने – लिखने के अलावा मैं स्कूल की अन्य गतिविधियों में भी रूचि रखती हूं। जिनमे से मुझे डांस बहुत पसंद है ।

विद्यालय टीम के साथ ख़ुशी

प्रश्न- सरकारी स्कूल को समाज में कई लोग ख़राब मानते है , आपने एक सरकारी स्कूल से ही पढ़कर राज्य मेरिट में अपना स्थान बनाया है , सरकारी स्कूल के बारे में गलत राय रखने वालों को क्या कहना चाहेंगे ?
– ऐसा नहीं है कि सरकारी स्कूलों में पढाई नहीं होती। लोग इसलिए सोचते है क्योंकि जो बड़े बड़े लोग, बड़े अफसर है वे अपने बच्चो को सरकारी स्कूल में नही पढ़ाते। प्राइवेट स्कूलों की अपेक्षा सरकारी स्कूलों में ज्यादा अच्छे और ज्यादा पढ़े-लिखे शिक्षक होते है, जो आपके बच्चे को बहुत अच्छी शिक्षा प्रदान करेंगे।
हमारे विद्यालय में व्यावसायिक शिक्षा भी दी जाती है जो की कई अच्छे – अच्छे प्राईवेट स्कूलों में नहीं है। वैसे तो सरकारी स्कूलों में पढ़ाई होती है या नहीं, इसका परिणाम आप सबके सामने है। हमारे विद्यालय के 6 बच्चे राज्य मेरिट और 2 बच्चे जिला मेरिट में हैं।

प्रश्न- आप अपने जूनियर विद्यार्थियों से क्या कहना चाहेंगे ?
– मैं अपने जूनियर्स से बस यह कहना चाहूंगी कि टेंशन फ्री होकर और मन लगाकर पढाई करे और अपना काम समय पर पूरा करें। आपका परिणाम अच्छा होगा।

ख़ुशी से हुई बातचीत का विडियो देखे सिर्फ हमारे यूट्यूब चैनल पर

सरकारी स्कूल से जुड़ी रोचक और प्रेरक ख़बरें शेयर करें, हम उसे प्रकाशित करेंगे. हमें मेल करें [email protected]

About the author: Abhishek Ranjan

Abhishek Ranjan is the Founder and Director of SarkariSchool.IN

Has one comment to “कौन कहता है सरकारी स्कूलों में पढ़ाई नहीं होती? मेरा स्कूल देखिये”

You can leave a reply or Trackback this post.
  1. Ekta Bhadouria - July 30, 2020 Reply

    Yes it is true government school can also give those precious knowledge which is very useful in our studies and as well as in our livelihood….I am also a part of this school and my experience is much better…It is important to know the importance of government schools coz these are an important pillar of our country.

Leave a Reply

Your email address will not be published.Email address is required.